शरीर को फिट और मन को शांत रखने के लिए करें ये 3 योगासन

शरीर को फिट और मन को शांत रखने के लिए करें ये 3 योगासन

शरीर को फिट और मन को शांत रखने के लिए करें ये 3 योगासन : इस भाग दौड़ भरे जीवन में आपको काफी मानसिक तनाव हो जाता है और आप थकान महसूस करने लग जाते हैं। इससे आपका दिनभर काम करने में मन नहीं लगता है और इससे आप जीवन में काफी कुछ खो देते हैं जो आपको मिलना चाहिए था। इस समय आदमी के पास फुर्सत नहीं होती है कि वह अपने शरीर को चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए थोड़ा सा भी समय नहीं देता है लेकिन दिन भर काम करता रहता है और घर लौटते ही बिस्तर पकड़ लेता है। इससे आपको तमाम प्रकार की बीमारियां होने लगती हैं।

लेकिन अगर आप 24 घंटे में एक घंटे का भी समय निकालकर अपने शरीर पर ध्यान दें तो आप मानसिक थकान और शारीरिक थकान से दिन भर मुक्ति पा सकते हैं। भारत में योग पुरानी परंपरा है जिसे ऋषि मुनि सदियों से करते आ रहे हैं। अगर आप सुबह एक घंटे कुछ महत्वपूर्ण योग कर लें तो आप दिन भर तनाव से मुक्त रह सकते हैं और शारीरिक रूप से फिट रह सकते हैं।

शरीर को फिट और मन को शांत रखने के लिए करें ये 3 योगासन

योग से हर रोग का इलाज संभव है। यदि आप प्रतिदिन आधे से एक घंटे व्यायाम करते हैं तो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी और आप रोग मुक्त रहेंगे। लेकिन इसके लिए आपको योग को मन लगाकर करना होगा। योग करते समय किसी भी प्रकार का तनाव और नकारात्मक विचारों को नहीं रखना चाहिए।

इस आर्टिकल में हम आपको मात्र 3 ऐसे व्यायाम के बारे में बताएंगे जिन्हें प्रतिदिन 10 से 20 मिनट तक करने से आपको शारीरिक थकावट से मुक्ति मिलेगी और आपका शरीर भी स्वस्थ रहेगा। ये सभी आसान एकदम आसान हैं।

बटरफ्लाई आसन

बटरफ्लाई आसन में आपको दोनों पैरों के तलवे को एक दूसरे से सटाकर घुटनों को ऊपर नीचे करना होता है, जैसे तितली अपने पंखों को उड़ते समय प्रयोग करती है ठीक उसी तरह आपको अपने घुटनों को ऊपर नीचे करना है। इस प्रक्रिया में आप सास लेते और छोड़ते रहें। जैसे यदि आपका घुटना जमीन पर छू रहा है तो आप साँस छोड़ें और जब ऊपर हो तो साँस अंदर लें। यह आसन महिलाओं के लिए सबसे उपयुक्त होता है। ध्यान रहे इस आसन को करते समय आप सीधे बैठे रहें यानी आपके रीढ़ की हड्डी सीधी रहे।

मार्जारी आसन

मार्जरी आसन के लिए आपको आगे की ओर झुकना और फिर पीछे की ओर मुड़ना होता है। यह आसन आपके शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक है। इस आसन को करते समय आपके रीढ़ की हड्डी को खिंचाव मिलता है। इससे आपको पीठ दर्द और गर्दन दर्द में राहत मिलता है।

चक्की चलासन

आपने अपने गाँव या शहर में आसपास चक्की चलते तो देखा ही होगा। अब यह ऑटोमैटिक हो चुका है लेकिन पहले के जमाने इसे हाथ से चलाया जाता था। यह आसन भी ठीक उसी प्रकार का है, इसमें भी आपको हाथ से चक्की चलाने जैसा आसन करना है। चक्की चलासन को करना बिल्कुल भी मुश्किल नहीं है।

इसके लिए पहले आप जमीन पर मैट बिछाकर बैठ जाएं। इसके बाद अपने दोनों पैरों को बिल्कुल सामने की ओर फैला लें। इसके बाद दोनों हाथों को जोड़कर पैरों के पास लाएं। दोनों हाथों को जोड़े हुए ही इसे दक्षिणावर्त यानी क्लॉक वाइज घुमाना शुरू करें, जिस तरह चक्की चलाई जाती है। इसी तरह वामावर्त यानी एंटी क्लॉक वाइज घुमाएं। इसी तरह से इसे 10 से 15 मिनट तक करते रहें।

इस आसन को करने से आपका पेट अंदर चला जाता है, जो आज के समय की सबसे बड़ी टेंशन है। पेट को वापस अपने आकार में लाने के लिए यह आसन बहुत लाभकारी है। चक्की चलनासन करने से लोअर एब्डोमन और पेल्विक एरिया का भी व्यायाम हो जाता है। इससे आपका कमर लचीला हो जाता है।

अगर आप दिन भर में आधे घंटे समय निकालकर इन तीनों व्यायाम को कर लेते हैं तो आपको काफी फायदा होगा। हर योगाभ्यास अपनी क्षमता अनुसार ही करें। किसी भी योग को करने के लिए अपने शरीर पर जबरन दबाव ना डालें। अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए खुद से संकल्प लेना बहुत ही जरूरी है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*