यूरिक एसिड क्या है, क्यों होती है ये समस्या, कैसे करें इसे कंट्रोल ?

यूरिक एसिड क्या है

यूरिक एसिड क्या है, क्यों होती है ये समस्या, कैसे करें इसे कंट्रोल ? –  नमस्कार दोस्तों मैं हर्षित कुमार आपका एक बार फिर से अपने इस ब्लॉगिंग वेबसाइट पर हार्दिक स्वागत करता हूं। जैसे कि आप लोग जानते हैं कि हम आपके लिए हेल्थकेयर रिलेटेड आर्टिकल लाते रहते हैं। आज हम आपके लिए बहुत ही अच्छा टॉपिक लेकर आए हैं। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से बात करने वाले हैं यूरिक एसिड के बारे में। साथ में हम इस हटकर के माध्यम से आपको बताएंगे कि यूरिक एसिड क्या है? यूरिक एसिड की प्रॉब्लम क्यों होती है और हम यूरिक एसिड की बीमारी को कैसे कंट्रोल करें।

आज के टाइम में चाहे कोई युवा हो या फिर कोई बुजुर्ग हो हर कोई व्यक्ति यूरिक एसिड की  बीमारी से ग्रसित है। अगर हमारे शरीर में यूरिक एसिड की प्रॉब्लम होती है हमारे शरीर में इसके बहुत सारे गलत इफेक्ट पढ़ते हैं। जिसके कारण हमारे शरीर में बहुत सारी बीमारियां होने लगती हैं। आइए अब हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से यूरिक एसिड के लिए सभी जानकारी विस्तार से देते हैं।

यूरिक एसिड क्या है ?

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको यूरिक एसिड के लेटेस्ट सभी जानकारी विस्तार से देंगे। और साथ में हम आपको यूरिक एसिड के लक्षण और बचाव के बारे में भी जानकारी देंगे ।

यूरिक एसिड हमारे शरीर में बनने वाला एक प्रकार का केमिकल होता है। जो कि हमारे शरीर में प्यूरिन वाले खाने के पाचन से बनता है। यूरिक एसिड हमारे शरीर में खाने के माध्यम से शरीर बनता है। यह एसिड हमारे शरीर में एसिड रक्त  के जरिए हमारे किडनियों तक पहुंचता है। और इसके बाद हमारी किडनी हमारे शरीर के हिसाब से संतुलित कर फिल्टर करती है।

यूरिक एसिड की समस्या क्यों होती है ?

यह एक बहुत ही बड़ा सवाल है कि आखिरकार यूरिक एसिड के समस्या हमारे शरीर में क्यों होती है। यूरिक एसिड जब हमारे शरीर में अधिक मात्रा में बनने लगती है और किडनी  यूरिक एसिड को सही से  फिल्टर नहीं कर पाती है तो हमारे शरीर  के ब्लड में यूरिक एसिड बढ़ने लगता है।

जिससे कारण यूरिक एसिड हमारे शरीर की हड्डियों के बीच जमा होने लगता है। इसी कारण हमारे शरीर की हड्डियों के बीच असहनीय दर्द होने लगता है। और साथ में हमारे शरीर में बहुत सारी और बीमारियां होने लगती हैं।

अधिकतर यूरिक एसिड की समस्या हमारे गलत खानपान की वजह से होती है। यूरिक एसिड की समस्या अधिकतर रेड मीट, सी फूड, दाल, राजमा, पनीर और चावल  जैसे फूड खाने से होती है। यह ऐसे फूड होते हैं जो हमारे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को बढ़ा देते हैं। पुरुषों में यूरिक एसिड की समस्या 25 से 40 वर्ष के बीच में अधिक देखी जा रही है। वही महिलाओं में यूरिक एसिड की समस्या 50 वर्ष के ऊपर ज्यादा देखी जाती है।

यूरिक एसिड के लक्षण

यूरिक एसिड के वैसे तो बहुत सारे लक्षण होते हैं। जिनमें हम आपको कुछ खास लक्षण के बारे में बताने जा रहे हैं। अगर आपके शरीर में यह लक्षण दिखते हैं तो आपको समझ जाना चाहिए कि आपके शरीर में यूरिक एसिड के समस्या हो रही है।

  • जोड़ों में गांठ
  • हाथ-पैरों में असहनीय दर्द
  • थकान महसूस करना
  • जोड़ों में दर्द
  • मांसपेशियों में सिकुड़न
  • मसल्स की थकान
  • उठने-बैठने में परेशानी
  • उंगलियों में सूजन या चुभन

यूरिक एसिड के समस्या को कंट्रोल कैसे करें

अगर आपके शरीर में यूरिक एसिड की समस्या धीरे-धीरे बढ़ रही है। तो आप हमारे द्वारा बताए गए तरीके को अपनाकर यूरिक एसिड की समस्या को कंट्रोल कर सकते हैं।

अगर आपको लगता है कि आपके शरीर में यूरिक एसिड की समस्या बढ़ रही है तो आपको प्रतिदिन अधिक से अधिक पानी  पीना चाहिए। क्योंकि जब आप अधिक पानी पिएंगे तो पानी के माध्यम से यूरिक एसिड आपके शरीर से धीरे-धीरे बाहर निकलने लगेगा।

यूरिक एसिड की वजह से आपके बॉडी पर जिस जगह पर दर्द हो रहा हो वहां पर आपको बर्फ के पानी से सिकाई करनी चाहिए।

आपको कोशिश करना है कि आप प्रतिदिन अच्छी नींद ले। अच्छी नींद लेने से आपके शरीर को रिलैक्स मिलता है और आप यूरिक एसिड की समस्या से भी धीरे-धीरे छुटकारा पा सकते हैं।

आपको प्रतिदिन एक्सरसाइज करना चाहिए। अगर आप प्रतिदिन एक्सरसाइज करते हैं तो इससे आपके शरीर में अधिक प्रोटीन जमा नहीं होगी।

आपको प्रतिदिन गाजर और चुकंदर का जूस पीना चाहिए। और साथ में आपको प्रतिदिन नींबू पानी का सेवन भी जरूरी है।

यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए आप सेब का सिरका का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

 निष्कर्ष

दोस्तों हमने आपको इस  आर्टिकल के माध्यम से यूरिक एसिड के  रिलेटेड सभी जानकारी आपको विस्तार से दी है। साथ में हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से यूरिक एसिड क्या है? यूरिक एसिड के लक्षण और उसके रोकथाम के बारे में जानकारी दी है। दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो आप हमें कमेंट करके अपनी राय अवश्य दें धन्यवाद।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*